Header Ads

.

Corona Alert! पीने के शौक के चक्कर में सोशल डिस्टेंसिंग मत भूलिए


देश के कुछ स्थानों पर शराब की दुकानों पर सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियम का उल्लंघन किया गया। गृह मंत्रालय ने सोमवार से लॉकडाउन की अवधि दो और सप्ताह के लिए बढ़ा दी थी और ग्रीन तथा ऑरेंज जोन में शराब और तंबाकू की दुकानें खोलने की अनुमति दी थी। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को खुली शराब की दुकानों में से कई को भीड़ के अनियंत्रित होने और सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियम का पालन न करने की वजह से बंद करना पड़ा। कई जगह भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्के बल का इस्तेमाल भी करना पड़ा। लोगों को लग रहा है कि लॉकडाउन के कारण फिर से दुकानें बंद हो जाएंगी इसलिए लोग अपने साथ बड़े-बड़े बैग लेकर आए थे। ताकि एकबार में स्टॉक कर लिया जाए। शराब की दुकान के बाहर बैरीकेडिंग भी गई थी लेकिन लोग नहीं मानें। लंबी-लंबी कतारों में लोग अपनी बारी का इंतजार करते रहे।

कई लोगों को इस बात की जानकारी नहीं थी कि केवल सरकारी दुकानों को शराब बिक्री की अनुमति दी गई है। बुराड़ी, मयूर विहार, गांधी विहार, रोहिणी और जनकपुरी में बड़ी संख्या में लोग दुकानों के बाहर इकट्ठे हो गए। एक अधिकारी ने बताया कि पूर्वी दिल्ली में मयूर विहार के पास एक दुकान को बंद कराना पड़ा क्योंकि लोग वहां सामाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में ऐसे समय में शराब की दुकानों को खोलने में जल्दबाजी की जब वह ‘रेड जोन’ में है। उन्होंने दिल्ली में शराब की दुकानों के बाहर उमड़ी भारी भीड़ के मद्देनजर सरकार से अपने निर्णय की समीक्षा करने का भी अनुरोध किया।

लॉकडाउन 3.0 के पहले ही दिन मिली छूट के कारण दिल्ली में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गईं। बड़ी संख्या में लोग शराब की दुकानों पर उमड़े जिसके कारण कई जगह भगदड़ की स्थिति भी बनी। दिल्ली में ऐसी स्थिति बनने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नाराजगी जाहिर की है।

जैसे ही सरकार की तरफ से ये ऐलान हुआ कि शराब की दुकानें खुलने जा रही हैं वैसे ही दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइने लग गईं। ये तस्वीर राजस्थान के उदयपुर की है। जहां लोग गोलों पर खड़े हुए हैं और अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। ये लोग सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहे हैं।

No comments