Header Ads

.

CM नीतीश ने PM मोदी के सामने रखी डिमांड की लंबी चौड़ी लिस्ट, क्या फिर बढ़ेगा लॉकडाउन?

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना संकट काल मे लॉकडाउन (Lockdown in Bihar) लागू करने पर कहा था 'जान है तो जहान है'। तो क्या आज रात 8 बजे देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिर से लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने की घोषणा करेंगे। हालांकि सोमवार को ही pm के साथ बैठक में cm नीतीश कुमार (Nitish Kumar)ने भी 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया था।

पटना
25 मार्च से अब तक तीन चरण में बढ़ाए गये लॉकडाउन (Lockdown) का लोग पालन तो कर रहे हैं, लेकिन लगातार बंदी की वजह से अब लोग परेशान होने लगे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की थी। उन्होंने राज्यों से वहां के हालात जानने की कोशिश भी की थी। देश में आर्थिक गतिविधि बढ़ाये जाने के साथ, लॉकडाउन (Lockdown) की अवधि बढ़ाई जाए या नहीं इस विषय पर भी चर्चा की गई।
जानकारी के मुताबिक कई मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन (Lockdown) को बढ़ाए जाने का समर्थन किया और कुछ ने धीरे-धीरे छूट देकर लॉकडाउन (Lockdown) से बाहर निकलने का सुझाव दिया था। बिहार के मुख्यमंत्री भी लॉकडाउन (Lockdown) बढ़ाने के पक्षधर हैं।
लॉकडाउन बढ़ाने पर नीतीश कुमार ने क्या कहा
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए केंद्र जो भी कदम उठाएगी राज्य सरकार उसका समर्थन करेगी। मुख्यमंत्री ने केंद्र द्वारा उठाए जा रहे कदम को भी सही बताया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने पीएम को बताया कि दूसरे राज्यों से आ रहे बिहारियों की वजह से तेजी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने यह कहा कि बिहार सरकार चाहती है कि लॉकडाउन (Lockdown) को 31 मई तक बढ़ा दिया जाए।
नीतीश ने केंद्र से की है ये मांग
नीतीश कुमार ने पीएम मोदी के साथ बैठक के दौरान बिहार में तेजी से कोरोना जांच के लिए केंद्र सरकार से उपकरण की मांग की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच में तेजी लाने की लिए RTPCR मशीन, ऑटोमेटिक आर.एन.ए एसट्रेक्सन्स और RTPCR मशीन में प्रयोग किये जाने वाले किट के साथ 100 वेंटिलेटर की जो मांग की गई है, उसकी आपूर्ति जल्द करा दी जाए।

बता दें आज ही समीक्षा बैठक के दौरान स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी थी कि 4 मई से 10 मई के बीच बाहर से बिहार आने वाले 150 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इनमें गुजरात से आने वाले 33, महाराष्ट्र के 36, एनसीआर के 41, तेलांगना के 10, हरियाणा के 3 मजदूर शामिल हैं। ऐसे में अगर सतर्कता नहीं बरती गई और सही तरीके से जांच नहीं की गई तो बिहार की स्थिति बदतर हो सकती है। नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने समीक्षा बैठक में जिला स्तर पर भी कोरोना जांच के निर्देश अधिकारियों को दिया है। जाहिर है इसके लिए लाखों की संख्या में टेस्टिंग किट की जरूरत होगी।

आने वाले परिस्थिति से निपटने के लिए कई वेंटिलेटर की भी जरूरत होगी। हालांकि लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर या फिर प्रधानमंत्री के साथ नीतीश कुमार (Nitish kumar) की क्या बातचीत हुई है इसकी कोई आधिकारिक जानकारी अभी तक नहीं मिल सकी है।
लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान प्रधानमंत्री ने पांचवी बार मुख्यमंत्रियों से बात की
बता दें कि सोमवार को कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की मुख्यमंत्रियों के साथ पांचवीं बैठक थी। पीएम ने पहली बैठक पहले संपूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) के पांच दिन पहले यानी 20 मार्च को की थी। इसके बाद दूसरी बैठक 2 अप्रैल को तीसरी बैठक 11 को करने के बाद पीएम ने लॉकडाउन (Lockdown) को 14 अप्रैल से बढ़ाकर 03 मई तक कर दिया था।
इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने 27 अप्रैल को चौथी बैठक की थी और इसके दूसरे दिन ही लॉकडाउन (Lockdown) की अवधि 03 मई से बढ़ाकर 17 मई तक कर दी गयी थी। पीएम मोदी की यह पांचवी बैठक थी जिसमें उन्होंने सभी मुख्यमंत्रियों से फीडबैक लिया है। अब यह आज रात 8 बजे ही पता लगेगा कि PM लॉकडाउन (Lockdown) और अर्थव्यवस्था को लेकर क्या घोषणा करते है।


No comments