Header Ads

.

महिलाओं ने वटवृक्ष पूजन कर की अटल सौभाग्य की कामना

वट अमावस्या पर शुक्रवार को महिलाओं ने उपवास रखा और वट सावित्री का विधि-विधान के साथ पूजन कर अटल सौभाग्य की कामना की। वट सावित्री व्रत की घरों में तैयारियां सुबह से ही शुरू हो गईं। महिलाओं ने घरों में पूजा स्थलों की सफाई की। देवी-देवताओं की मूर्तियों को स्नान कराने के बाद उन्हें नए वस्त्र पहनाए।

महिलाओं ने पूजन के लिए तरह-तरह के स्वादिष्ट पकवान तैयार किए। पूजा की थाली के साथ पारंपरिक ढंग से पूजा-अर्चना करने के लिए महिलाएं घर के पास के वट वृक्ष के नीचे एकत्र हुईं। वट वृक्ष की सभी ने विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की।इस बार कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण बहुत सी महिलाओं ने बरगद की डाल घर पर मंगाकर पूजन किया। 

पूजन के दौरान महिलाओं ने न तो मास्क लगाया और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा। वट वृक्ष पर कच्चे सूत का धागा लपेटते हुए उसके चारों ओर परिक्रमा कर अपने सुहाग की दीर्घायु के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। इस दौरान वट वृक्ष के नीचे बैठकर महिलाओं ने वट सावित्री व्रत की कथा सुनी।
 

No comments