Header Ads

.

मोदी ने किया स्वागत, शाह बोले.. आयात का बोझ होगा कम

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आज की गई घोषणाओं का स्वागत किया है। सीतारमण ने कोयला, खनिज, रक्षा, नागरिक उड्डयन, अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा समेत 8 अहम सेक्टरों में सुधार के लिए कई घोषणाएं कीं।
मोदी ने ट्वीट किया, 'वित्त मंत्री ने आज कोयला, खनिज, रक्षा, नागरिक उड्डयन, अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा जैसे अहम क्षेत्रों के लिए आज कई उपायों और सुधारों की घोषणा की। इनसे बिजनस के कई मौके मिलेंगे और ये देश की अर्थव्यवस्था में बदलाव में योगदान देंगे।'
आत्मनिर्भर भारत के प्रयासों को मिलेगा बल
गृह मंत्री अमित शाह ने भी मोदी और सीतारमण को धन्यवाद देते हुए कहा कि आज की घोषणाओं से इकनॉमी और आत्मनिर्भर भारत के प्रयासों को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि कोल सेक्टर में इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए 50 हजार करोड़ रुपए और कमर्शियल माइनिंग की अनुमति स्वागतयोग्य नीतिगत सुधार हैं जिनसे प्रतिस्पर्द्धा और पारदर्शिता बढ़ेगी।

गृह मंत्री ने कहा कि मजबूत, सुरक्षित और सशक्त प्रधानमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकता है। रक्षा उत्पादन में एफडीआई की सीमा बढ़ाकर 74 फीसदी करने और कुछ सीमित हथियारों और उपकरणों के आयात पर प्रतिबंध लगाने से मेक इन इंडिया को बल मिलेगा और आयात का बोझ कम होगा।
5 ट्रिलियन डॉलर की इकनॉमी का सपना होगा साकार
भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी वित्त मंत्री की आज की घोषणाओं का स्वागत करते हुए कहा कि इन सुधारों से प्रधानमंत्री का आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था का सपना साकार होगा। इनका इकनॉमी के 10 अहम सेक्टरों पर सीधा प्रभाव पड़ेगा। इन सुधारों से कोल, डिफेंस, माइनिंग, पावर, सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर, एविएशन, स्पेस, एटमिक एनर्जी जैसे सेक्टरों में भारी निवेश आएगा और भारत का 5 ट्रिलियन डॉलर की इकनॉमी बनने का लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी।

No comments