Header Ads

.

ऑरेंज जोन में आया जिला, फिर तय होगा बाजार खोलने का समय

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के तीसरे दौर में जनपद कोरोना मुक्त हुआ तो डीएम इन्द्र विक्रम सिंह ने चौथे चरण का लॉकडाउन शुरू होने पर विभिन्न व्यवसायों की दुकानें खोलने के लिए सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक, दोपहर एक बजे से शाम छह बजे तक और सुबह नौ बजे से शाम छह बजे तक तीन स्लॉट तय किए थे। वहीं, जिन व्यवसायों का किसी टाइम स्लॉट में उल्लेख नहीं किया गया, उनसे संबंधित कारोबारियों को दोपहर एक बजे से शाम छह बजे तक प्रतिष्ठान खोलने की अनुमति दी गई। मगर एक स्लॉट की दुकानें समय बीतने के बाद दूसरे टाइम स्लॉट मेें भी खुली रहने से बाजारों में भीड़ बढ़ रही है और सामाजिक दूरी के नियम की धज्जियां उड़ रही हैं। इसी बीच एक अन्य कोरोना पॉजिटिव मिलने से जिला ऑरेंज जोन में आ गया है। अब जिला प्रशासन बाजार खुलने के लिए नये सिरे से रूपरेखा तैयार करने में जुटा गया है।
गत चार मई से प्रभावी दुकानेें खुलने की समय सारिणी में आटो पार्ट्स, जनरल स्टोर, इलेक्ट्रिक सामान, मशीनरी पार्ट आदि की दुकानें खोलने के लिए सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे का समय निर्धारित किया गया लेकिन इन सभी व्यवसायों की अधिकांश दुकानें दोपहर बाद तक खुल रही हैं। दूसरी ओर साइकिल बिक्री एवं मरम्मत, कास्मेटिक रेडीमेड वस्त्र, टेलरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स, फुटवियर आदि को दूसरे स्लाट में रखा गया है, लेकिन पुलिस की रोकटोक के चलते अन्य व्यवसायों की देखादेखी यह दुकानें भी सुबह से खुल रही हैं। दो दिन पहले, बहादुरगंज चौकी के सिपाहियों ने पचराहा पर दोपहर एक बजे के बाद नियमानुसार खोली गईं फर्नीचर की दुकानें बंद कराने का प्रयास किया तो कारोबारी सड़क पर उतर आए और बाद में अधिकारियों को हस्तक्षेप करना पड़ा।
साइकिल बिक्री एवं मरम्मत को किसी स्लॉट मेें शामिल नहीं किए जाने पर संबंधित दुकानदारों ने दोपहर एक बजे से दुकानें खोलनी शुरू कीं तो पुलिस ने उन्हें सुबह से पहले स्लॉट में दुकानें खोलने की हिदायत दी। नतीजा यह हुआ कि चारखंभा से लेकर घंटाघर तक और टेलीफोन एक्सचेंज से लेकर जलालनगर तक साइकिल मिस्त्री सुबह से दुकानें खोलकर अपने काम में जुट जाते हैं। बिजलीपुरा के एक साइकिल मिस्त्री का कहना है कि प्रशासन से निर्धारित समय पर पुलिस वाले दुकान नहीं खोलने देते, इसलिए मजबूरी में उसे सुबह नौ बजे से दुकान खोलकर दोपहर तक सामान समेटना पड़ रहा है। ऐसे में जितनी ज्यादा दुकानें खुल रही हैं, उसी अनुपात में सड़कों पर भीड़ भी दिखाई दे रही है, लेकिन पुलिस सामाजिक दूरी का पालन कराने के बजाय केवल गश्त करने की रस्म निभा रही है। इसी बीच कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है और जिला ऑरेंज जोन में आ गया है। इसको देखते हुए प्रशासन ने एक बार फिर नये सिरे से दुकानें खुलने का समय तय करने की कवायद शुरू कर दी है।
कोरोना पाजिटिव केस मिलने के बाद जनपद ग्रीन के बजाय ऑरेंज जोन मेें आ गया है। इसे देखते बाजारों में अलग-अलग व्यवसायों की दुकानेें खोलने के लिए नई व्यवस्था जल्द लागू की जाएगी। पुलिस को सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन कराने और लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के वाहनों का चालान करने के निर्देश दिए गए हैं।
- रामसेवक द्विवेदी, एडीएम प्रशासन

No comments