Header Ads

.

सड़कों से पैदल घर ना आएं मजदूर, योगी सरकार ने किया और 250 श्रमिक एक्सप्रेस का इंतजाम

लखनऊ
देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे तमाम मजदूरों को लाने के लिए यूपी सरकार अब तक कुल 522 श्रमिक ट्रेनों का इंतजाम कर चुकी है। ट्रेनों के साथ साथ बसों और अन्य साधनों से रविवार तक उत्तर प्रदेश में 6.50 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक एवं कामगार अन्य राज्यों से आ चुके हैं। अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार को करीब डेढ़ लाख मजदूर यूपी आए हैं। इसके अलावा प्रवासी मजदूरों के लिए 250 अन्य ट्रेनों का इंतजाम कर दिया गया है।
अवनीश अवस्थी ने बताया कि शनिवार रात तक 87 ट्रेनें प्रदेश में आ चुकी हैं। रविवार सुबह तक 522 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 6 लाख 65 हजार से अधिक लोग आ चुके हैं। अवस्थी ने बताया कि रविवार को 87 और ट्रेनें आ रही हैं। राज्य में प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को ट्रेनों से लाने की व्यवस्था लगातार बढाई गई है और इस सिलसिले में 250 और ट्रेनों की अनुमति दी गई है। उन्होंने बताया कि शनिवार को दिल्ली से पहली बार यूपी के लिए चली ट्रेन यहां पहुंची है।

ट्रेनों से जारी है मजदूरों की घर वापसी
दिल्ली से हर रोज 11 ट्रेन
अवस्थी ने बताया कि दिल्ली से हर रोज 11 ट्रेनें उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के लिए चलेंगी। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि शनिवार तक रेलवे को 6 करोड़ रूपये का भुगतान श्रमिकों एवं कामगारों को ट्रेन से लाने के लिए किया गया है। सोमवार को 30 करोड़ रूपये की और धनराशि रेल विभाग को दे दी जाएगी।

जिलों में स्कूली बसों से घर पहुंचेंगे मजदूर
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे निजी वाहन और स्कूली वाहन निर्धारित दर पर हर हालत में अधिगृहीत करें ताकि श्रमिकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा सके। जिलाधिकारियों से कहा गया है कि हर जनपद में दो सौ से अधिक निजी वाहन भी अधिकृत किये जाएं।

No comments